रखदो चटके शीशे के आगे मन का कोई खूबसूरत कोना ,यह कोना हर एक टुकड़े में नज़र आये गा |

यह ब्लॉग खोजें

गुरुवार, 7 मार्च 2013

महिला दिवस पर एक बेजुबान सवाल 

इस पृथ्वी पर नितांत असुरक्षित 
मै एक अजन्मा मादा स्वर हूँ
जो इस पशोपश में हूँ 
कि कौन सी मृत्यु 
मुझे प्राप्त होने वाली है 
तीन पांच या सात माह वाली 
भ्रूण हत्या 
या फिर 
तीन पांच या सात साल में
बलात्कार के बाद की गई
गला घोंट कर पाशविक हत्या

5 टिप्‍पणियां: